मोदी सरकार हर महीने देगी 3 हजार रुपए…बस सेविंग अकाउंट नंबर और आधार कार्ड होना चाहिए

New Delhi : प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन स्कीम की पात्रता से जुड़े नियम जारी कर दिए गए हैं। कोई भी ऐसा व्यक्ति जिसकी उम्र 40 वर्ष से ऊपर हो चुकी है या ऐसा व्यक्ति जो किसी पेंशन स्कीम का फायदा पहले से ले रहा है, वो इसका फायदा नहीं उठा सकेगा।

पति, पत्नी में से जिसे पेंशन का लाभ मिल रहा है, यदि उसकी मौत हो जाती है तो उसके बच्चों को उसकी पेंशन नहीं मिल सकेगी। बता दें कि सरकार ने इस पेंशन स्कीम को असंगठित क्षेत्र को ध्यान में रखते हुए पेश किया है। जैसे, घरों में काम करने वाले नौकर, ड्राइवर,रिक्‍शा चालक, निर्माण कार्य करने वाले मजदूर, कूड़ा बीनने वाले, बीड़ी बनाने वाले, हथकरघा, कृषि कामगार, मोची, धोबी, चमड़ा कामगार आदि इसका फायदा उठा सकेंगे। सरकार इस स्कीम के तहत सब्सक्राइबर को 3 हजार रुपए मासिक पेंशन देगी। संबंधित व्यक्ति की मासिक आय 15 हजार रुपए से ज्यादा नहीं होना चाहिए। सरकार और सब्सक्राइबर दोनों ही एक समान अमाउंट पेंशन के लिए देंगे।

यह स्कीम 15 फरवरी 2019 से काम करना शुरू कर देगी। शर्तें पूरी करने वाले व्यक्ति के पास सेविंग बैंक अकाउंट और आधार कार्ड होना जरूरी है। व्यक्ति की उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

यदि कोई व्यक्ति पहले से ही नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) का लाभ ले रहा है तो वो इसका लाभ नहीं उठा सकेगा। पेमेंट के भुगतान में देरी होने पर सब्सक्राइबर लेट पेनाल्टी के साथ पैसा जमा कर सकेगा। अकाउंट ओपन होने के 10 साल के अंदर यदि कोई इस स्कीम से बाहर आता है तो उसके द्वारा जमा किए गए पैसे उसे वापस लौटा दिए जाएंगे। इस दौरान जो इंटरेस्ट जनरेट होगा, वो भी उसे दिया जाएगा। पति या पत्नी में से किसी की मौत हो जाती है तो उसका पार्टनर स्कीम को जारी रख सकेगा। पार्टनर चाहे तो अपना शेयर लेकर स्कीम को छोड़ भी सकेगा। दोनों की मौत हो जाती है तो राशि वापस फंड में चली जाएगी। 10 करोड़ लोगों को इसका फायदा मिलने की उम्मीद है। 60 साल की उम्र पूरा होने के बाद पेंशन मिलना शुरू होगी। कोई 18 साल की उम्र से इस स्कीम को शुरू करता है तो उसे हर माह 55 रुपए जमा करना होंगे। वहीं जो व्यक्ति 40 साल की उम्र से इस स्कीम को शुरू करेगा उसे हर माह 200 रुपए जमा करना होंगे।