बगदादी का काल बना US आर्मी का ये डॉग…राष्ट्रपति ट्रंप ने की तारीफ

New Delhi : ISIS का सरगना अबू बकर अल बगदादी शनिवार को ‘कुत्ते की मौ’त’ मा’रा गया। बगदादी को मा’रने के लिए सीरिया स्थित उसी के ठिकानों पर अमेरिकी सेना ने ऑपरेशन को अंजाम दिया।

अब इसी ऑपरेशन में शामिल एक कुत्ते की तस्वीर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीटर पर साझा की है। उन्होंने कुत्ते के नाम का खुलासा नहीं किया और तारीफ में कहा कि बगदादी को मा’रने में इस कुत्ते ने अच्छा काम किया।

इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उत्तरी सीरिया में एक अंधेरी भूमिगत सुरंग में आईएआईएस सरगना बगदादी का पीछा करने वाले अमेरिकी सेना के कुत्तों में से एक कुत्ता घा’यल हो गया। उन्होंने कहा कि ह’मले में हमा’रे ‘के9’ स्वान दस्ते का एक सुंदर और प्रतिभाशाली कुत्ता घा’यल हुआ है।

बगदादी ने शनिवार शाम सीरिया के इदलिब प्रांत में एक सुरंग में अमेरिका के विशेष बलों के ह’मले के दौरान खुद को बम से उ’ड़ा लिया था। वह अपने परिवार और कुछ करीबियों के साथ सुरंग में छिपा हुआ था। बगदादी पर ढाई करोड़ अमेरिकी डॉलर का इनाम था।

व्हाइट हाउस से इस पूरे अभियान को देखने वाले ट्रंप ने रविवार को व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमा’रे कुत्तों के पीछा करने पर वह सुरंग के आखिरी छोर पर जाकर घिर गया।” ट्रंप ने कहा, “उसने (बगदादी) अपनी जैकेट सुलगाकर तीन बच्चों के साथ खुद को ब’म से उड़ा लिया।” उन्होंने कहा कि हमले के दौरान कोई भी अमेरिकी सैनिक हताहत नहीं हुआ, न ही किसी कुत्ते की मौ’त हुई।

ट्रंप ने कहा आईएस का सरगना अपने जीवन के अंतिम क्षणों में रोया, चीखा-चिल्लाया और फिर अपने तीन बच्चों की ह’त्या कर खुद को ब’म से उ’ड़ा लिया। उन्होंने कहा, “वह कुत्ते की मौ’त मरा। वह कायर की मौ’त मा’रा गया।”

बगदादी इराक में अल-कायदा में शामिल हो गया था, जिसका बाद में इराक के इस्लामिक स्टेट और अन्य इस्लामी समूहों के साथ विलय हो गया। वह अमेरिकी सेना द्वारा अपने पूर्ववर्ती के मा’रे जाने के बाद 2010 में समूह का नेता बन गया। इसके बाद उसने 2013 में समूह का नाम बदलकर आईएसआईएल या आईएसआईएस किया और 2014 में खुद को उसका खलीफा घोषित कर लिया।