पुलिस में दरोगा बनी ट्रक ड्राइवर की बेटी..रंग लाई पिता की मेहनत

New Delhi : टूंडला के राकेश रात-दिन ट्रक की स्टेयरिंग पर बैठकर बच्चों के सुनहरे भविष्य के ख्वाब देखते थे। आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई। बड़ी बेटी ने पहले परिवार का मान रखा तो अब छोटी बेटी काजल ने भी अरमान पूरे कर दिए। वह दिल्ली पुलिस में दारोगा बनने जा रही है।

एटा रोड टूंडला निवासी 50 वर्षीय राकेश गुप्ता ट्रक ड्राइवर हैं। परिवार की गाड़ी चली तो पहली बेटी पूनम परिवार में आई। बेटी के पैदा होने के बाद राकेश पर जिम्मेदारियां बढ़ीं। इसके बाद परिवार बड़ा और एक बेटा व एक बेटी का जन्म हुआ।

बेटियों को बेटे की तरह राकेश ने बड़ा किया और उनके लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। बड़ी बेटी पूनम बैंक क्लर्क बनी तो बेटा अनुराग इंजीनियर। इसके बाद भी राकेश ड्राइ¨वग करते रहे। अब छोटी बेटी काजल का दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर के पद पर चयन हुआ है। राकेश कहते हैं कि मुझे मेरी ईमानदारी का इनाम मिला है।

लुभाते थे कंधे के सितारे: पिछले छह महीने से बीरी ¨सह इंटर कॉलेज में सुबह दौड़ की प्रैक्टिस करने वाली काजल कहती है कि मुझे कंधे पर सजे सितारे शुरू से लुभाते थे। इसलिए मैंने पुलिस सेवा में जाने की तैयारी की और माता-पिता के आशीर्वाद से पहले ही प्रयास में चयन हो गया। काजल ने किड्स कार्नर से इंटरमीडिएट व सेंट जांस कॉलेज आगरा से बीएससी की परीक्षा पास की है।