जब 10वीं पास लड़के ने अपनी दिव्यांग प्रेमिका से की शादी..बोला-दिल से प्यार है शरीर से नहीं

New Delhi : प्यार क्या है ? आज के जमाने में तो प्यार 5 मिनट में शुरू होता है और फिर मकसद पूरा होने के बाद हफ्ते-10 दिन में खत्म भी हो जाता है। बस ज्यादातर यही प्यार रह गया है आजकल। लेकिन हम आपको एक ऐसी कहानी बता रहे हैं जो पिछले साल सामने आई और प्यार की सबसे बड़ी मिसाल है।

हरियाणा के हिसार में एक युवक ने एक युवती के साथ प्रेम विवाह करके शादी की अनूठी मिसाल प्रस्तुत की। लडकी आपाहिज है और लडका पूरी तरह से स्वस्थ है। लडके की आयु 25 वर्ष है और वह 10वीं पास है और वह वैल्डिंग का काम करता है। लडकी ने बीए बीएड पास की हुई है और उसकी आयु 32 वर्ष है। दरअसल, हिसार के कुम्हारान मौहल्ले में रहने वाले युवक अमित ने बरवाला की रहने वाली लडकी रानू के साथ सनातम धर्म चैरिटेबल ट्रस्ट के माध्यम से प्रेम विवाह रचाया है। चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से विवाह का प्रमाण पत्र जारी किया गया। युवक -युवती दोनों अलग- अलग जाति से संबंध रखते हैं और विवाह करने के बाद दोनों काफी खुश हैं।

अमित ने बताया कि एक दिन वह निजी अस्पताल में काम के लिए गया था। इसी दौरान रानू को कोई अस्पताल में भर्ती करवाकर चला गया। अमित को पता चला कि उसके माता-पिता की मु’त्यु हो चुकी है। उसका यहां पर कोई देख रेख करने वाला नही है तब उसने उसका अस्पताल में ध्यान रखा और वह ठीक हो गई। अमित रानू को राजस्थान के अमर पुरा धाम ले गया।

रानू के ठीक होने के बाद अमित युवती के साथ बरवाला चला गया और उसकी देखरेख करने लगा इसके बाद दोनों सहमति से विवाह रचा लिया। युवक ने बताया कि उसके माता-पिता इस विवाह से नाखुश हैं परतु उसने यह विवाह अपनी मर्जी से किया है।