लड़की ने भारत छोड़ा, धर्म बदला और की पाकिस्तानी लड़के से शादी-अब परेशानी में पड़ी

New Delhi : 19 साल पहले एक पाकिस्तानी नागरिक से शादी करने वाली भारतीय महिला अब परेशानी में पड़ गई है। एक पूर्व भारतीय महिला नागरिक ने एक पाकिस्तानी शख्स से शादी के लिए अपना नाम, धर्म और राष्ट्रीयता सब बदल लिया लेकिन अब पाकिस्तान में उन्हें नया राष्ट्रीय पहचान पत्र ही जारी ही नहीं किया जा रहा है।

गल्फ न्यूज के मुताबिक, शारजाह की काजल रशीद खान ने 31 जुलाई को अपना आईडी कार्ड रिन्यू कराने के लिए आवेदन किया था लेकिन अब तक उसे नया आईडी जारी नहीं किया गया है। अधिकारियों का कहना है कि उसके दस्तावेजों की प्रमाणिकता की जांच की जा रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सामान्यत: आईडी कार्ड जारी करने में 7-10 दिन ही लगते हैं।

काजल के पति मोहम्मद रशीद खान ने कहा, मैं पिछले तीन महीनों से नेशनल डेटाबेस ऐंड रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी (NADRA) को ई-मेल कर रहा हूं और उनके द्वारा मांगे गए सभी अतिरिक्त दस्तावेज जमा करा दिए हैं लेकिन इसके बावजूद कोई प्रगति नहीं हुई है।

कराची में काजल के बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए गए हैं। काजल की मौजूदा पाकिस्तानी आईडी कार्ड 2023 तक वैध है लेकिन पाकिस्तान में अपने बैंक अकाउंट ऑपरेट करने के लिए उन्हें नए स्मार्ट आईडी कार्ड के लिए आवेदन करना पड़ा।

काजल के पति ने कहा, मुझे ये समझ में नहीं आ रहा है कि मेरी पत्नी का आवेदन रोक कर क्यों रखा गया है क्योंकि यह केवल आईडी के रिन्यूअल का ही मामला है। उसके पास पहले से ही वैध पाकिस्तानी पासपोर्ट है और पाकिस्तान की नागरिकता भी है।

महिला के पास दुबई के पाकिस्तानी दूतावास द्वारा जारी किया गया एक पत्र भी है जिसमें इस बात की पुष्टि की गई है कि उसने अपना भारतीय पासपोर्ट सौंप दिया है और 2001 में उसे पाकिस्तानी पासपोर्ट जारी किया गया है।

60 वर्षीय रशीद पेशे से आर्किटेक्ट हैं और वह 1989 में कराची से यूएई आए थे। रशीद ने 1996 में मुंबई में एक हिंदू लड़की कल्पना से शादी की थी। कल्पना ने इस्लाम में अपना धर्म परिवर्तन कर अपना नाम काजल रख लिया था। रशीद के भारत में कई रिश्तेदार हैं।