पड़ोस के प्रेमी के साथ चॉकलेट डे मनाने आधी रात छत पर गई 15 साल की लड़की..सुबह इस हाल में मिली

New Delhi : चॉकलेट डे मनाकर रात को मकान की छत पर मिलने पहुंचे प्रेमी और प्रेमिका सुबह इस हाल में मिले कि देखते ही लोगों की चीख निकल गई। हरियाणा के यमुना नगर शहर के शिवनगर इलाके में रात को हुए इस हादसे का उस समय पता चला जब घरवालों को लड़की कमरे में नहीं मिली थी। उसकी मां उसे तलाशते हुए छत पर देखने गई तो पड़ोसी के छत की पर दो लाशें (दोनों के शव पांच-पांच फीट की दूरी पर थे) पड़ी थीं। एक लाश उसकी 15 साल की बेटी की थी। वह दो भाइयों की इकलौती बहन थी।

वहीं युवक सन्नी (19) तीन बहनों का इकलौता भाई था। युवक के परिजनों ने पहले बेटे की हत्या का अंदेशा जताया। बाद में पुलिस को दिए लिखित बयान में कहा- यह अचानक हुआ हादसा है। लड़की के परिजनों ने भी कोई आरोप नहीं लगाया। पांच माह पहले लड़की से मिला था युवक का दिया मोबाइल : सन्नी ने लड़की को एक मोबाइल दिया था। नवंबर में उस मोबाइल से बात करते हुए लड़की को उसके पिता ने पकड़ा था। तब लड़की ने बताया था- मोबाइल सन्नी ने दिया है। पंचायत में युवक को थप्पड़ मारे गए और दोबारा लड़की से कोई बात न करने पर समझौता हुआ। बताया जा रहा है कि उस घटना के बाद भी दोनों के बीच बातचीत जारी रही। लड़की आठवीं में पढ़ती थी। युवक फर्नीचर का काम सीख रहा था। दोनों स्कूल-आते जाते समय बात करते थे। दोनों एक ही कॉलोनी के रहने वाले हैं। दोनों के घरों में करीब 200 मीटर का फासला है।

रात को अपने कमरे में सोई थी बेटी-मां : बेटी शनिवार रात को अपने कमरे में सोई थी। उसी कमरे में उसके दोनों बेटे भी सोए थे। सुबह 6 बजे बेटा जागा और उसके पास आकर बोला- मम्मी! दीदी अपने बिस्तर पर नहीं है। बेटी को ढूंढ़ने वो छत पर बने बाथरूम में गई। वहां वो नजर नहीं आई। तभी उसकी नजर पड़ोसी की छत पर गई। देखा दो लाशें पड़ी हैं। यह देखकर वो चीख पड़ी। पास जाकर देखा तो एक लाश उसकी बेटी की थी। दूसरी लाश सन्नी की। -लड़की की मां

बेटे के कमरे का दरवाजा बंद था : गिरिराज – उसका बेटा गली से लगते कमरे में अकेला सोता है। रात पूरे परिवार ने साथ खाना खाया। करीब दस बजे उसने कमरे के गली वाले दरवाजे को बाहर से बंद किया और गेट का अंदर से ताला लगा दिया। सुबह सात बजे एक महिला ने बताया कि उनके बेटे का शव पास मकान की छत पर पड़ा है। उन्होंने देखा कि कमरे का दरवाजा बाहर से खुला था। वे वहां पर गए तो देखा कि बेटे की लाश छत पर तारों के नीचे पड़ी थी। -गिरिराज, सन्नी के पिता

भाई के कमरे से मिली चॉकलेट, लड़की ने दी थी- सन्नी की बहन ने बताया कि उसके भाई के कमरे में चॉकलेट पड़ी थी। जबकि शाम के समय जब वह घर आया था तो उसके पास कुछ नहीं था। शक है कि यह चॉकलेट लड़की ने ही दी थी। उसके भाई को रात को बुलाया गया है। उसका भाई इस तरह से खुद जाने वाला नहीं था।

मकान की छत से दो फीट ऊपर ही तारें- जिस मकान की छत पर यह हादसा हुआ है उसके ऊपर से 11केवी की लाइन गुजर रही हैं। दोनों ही लाइन छत से मात्र दो फीट की ऊंचाई पर हैं। जिस छत पर हादसा हुआ है वह जेई का ही घर बताया जा रहा है। मकान मालिक ने अपनी सेफ्टी के लिए आधे हिस्से पर छत के ऊपर दीवार बनवा दी है। ताकि जिस एरिया में छत से तारें गुजर रही हैं, उस एरिया में उसके परिवार का कोई भी व्यक्ति न जाए। वहीं लड़की के मकान की तरफ कोई दीवार नहीं की। इसीलिए सन्नी और लड़की दोनों ही नए बने मकान की छत पर मिलने पहुंच गए। माना जा रहा है कि अंधेरा होने से उन्हें तारें दिखाई नहीं दी होंगी।