नंबर वन की जंग- फाइजर को उम्मीद कि नवबंर में उसके कोरोना वैक्सीन प्रोडक्शन को हरी झंडी मिलेगी

New Delhi : क्या फाइजर कोरोना वैक्सीन की दौड़ में अग्रणी होगा? अमेरिकी फार्मास्युटिकल दिग्गज ने नवंबर के तीसरे सप्ताह के शुरू में अमेरिकी अधिकारियों से अपने टीके के लिये आपातकालीन स्वीकृति प्रदान करने का अनुरोध करने की योजना बनाई है। इसके सीईओ अल्बर्ट बोरला ने शुक्रवार 16 अक्टूबर को इसकी घोषणा की। यह अनुरोध “डेटा सकारात्मक है” मानकर किया जाएगा। उन्होंने कंपनी की वेबसाइट पर प्रकाशित एक पत्र में इस पूरी प्रक्रिया को समझाया है। वर्तमान में वैक्सीन की उपयोगिता की जांच के लिये 30,000 से अधिक प्रतिभागियों पर एक परीक्षण चल रहा है।

बता दें की वैक्सीन की स्वीकृति के लिये नैदानिक ​​परीक्षण निर्णायक हैं। मेडिसिन एजेंसी (एफडीए) वैक्सीन के संभावित प्राधिकरण पर निर्णय ले पायेगी जो तीन मानदंडों को पूरा करना चाहिये। जैसे प्रभावशीलता, स्वास्थ्य जोखिम की अनुपस्थिति और बड़े पैमाने पर इसका उत्पादन करने की कंपनी की क्षमता। फाइजर का मानना ​​है कि यह तीन स्थितियां नवंबर के अंत तक मिलेंगी।
इसलिए अमेरिका वर्ष के अंत तक दो टीके का प्रोडक्शन शुरू कर सकता है। एक दूसरी कंपनी मॉडर्ना के वैक्सीन के प्रोडक्शन की स्वीकृति भी नवंबर के महीने में मिल सकती है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प जो राष्ट्रपति के दूसरे कार्यकाल के लिये क्लोज फाइट में फंसे हुये हैं, ने कहा कि 3 नवंबर के चुनाव से पहले एक टीका उपलब्ध हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *