भारत घूमने आई लड़की को हो गया 12वीं पास देसी लड़के पृथ्वी से प्यार-अनोखी है इनकी प्रेम कहानी

New Delhi : एक तरफ जहाँ हमारे भारत देश में जाति और धर्म के नाम पर दो प्यार करने वालो को अलग कर दिया जाता है। वही आज हम आपको एक ऐसी प्रेम कहानी से रूबरू करवाने वाले है, जिसके बारे में जान कर आप भी हैरान रह जायेंगे। जी हां आप सब ने गांव की गोरी और विदेशी बाबू की प्रेम कहानी तो कई बार देखी और सुनी होगी।

मगर आज हम आपको एक विदेशी मेम और देसी बॉय की प्रेम कहानी से रूबरू करवाना चाहते है। बरहलाल इस विदेशी लड़की ने एक भारतीय लड़के से शादी करके यह साबित कर दिया कि भारत देश के लड़के वास्तव में कितने ईमानदार है। दरअसल हम यहाँ जिस लड़की की बात कर रहे है, वो अमेरिका वांशिगटन की रहने वाली है। जिसका नाम मैरी है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मैरी करीब तीन साल पहले भारत घूमने के लिए आई थी।

इस दौरान वो हिमाचल प्रदेश के डलहौजी शहर में घूमने के लिए गई। गौरतलब है कि इस दौरान उसे काफी मुश्किलों का भी सामना करना पड़ा। दरअसल मैरी को डलहौजी की टूरिस्ट जगहों की बिलकुल भी जानकारी नहीं थी। इसके इलावा उसे डलहौजी में रहने के लिए कोई भी जगह नहीं मिल रही थी। ऐसे में वह एकदम निराश और उदास हो कर रास्ते पर ही बैठ गई। गौरतलब है कि इस दौरान एक लड़का वहां से गुजर रहा था। जिसका नाम पृथ्वी सिंह है। बता दे कि जब पृथ्वी ने मैरी को उदास देखा तो उसने मैरी से उसकी परेशानी की वजह के बारे में पूछा। बरहलाल पृथ्वी को जैसे ही मैरी की परेशानी के बारे में पता चला, वैसे ही उसने एक होटल में मैरी के रहने का इंतजाम करवाया।

केवल इतना ही नहीं इसके इलावा पृथ्वी ने मैरी को डलहौजी की कई टूरिस्ट जगहों पर भी घुमाया। बरहलाल इसी दौरान दोनों में दोस्ती हो गई। इसके बाद मैरी को पृथ्वी से प्यार ही हो गया। जी हां जैसे ही मैरी को पृथ्वी से प्यार हुआ, वैसे ही उसने पृथ्वी को शादी के लिए प्रपोज भी कर दिया। वैसे आपको जान कर हैरानी होगी कि पृथ्वी केवल बारहवीं पास है। यही वजह है कि शुरुआत में उसे अंग्रेजी समझने में काफी दिक्क्त हुई। हालांकि प्रेम की कोई भाषा नहीं होती। जी हां मैरी और पृथ्वी के प्रेम ने इस बात को बखूबी साबित कर दिया। इन दोनों ने हाल ही में सलूणी के एसडीएम कार्यालय में शादी की है।

जी हां मैरी का कहना है कि उसने पृथ्वी को अच्छी तरह से परखने के बाद ही शादी का फैसला किया है। वही इस बारे में पृथ्वी का कहना है कि वो मैरी को अपने जीवन साथी के रूप में पाकर बेहद खुश है। दरअसल पृथ्वी डलहौजी के ही एक होटल में काम करता था। इसके इलावा मैरी का कहना है कि भारतीय पुरुष वास्तव में काफी ईमानदार पति साबित होते है।

इसके इलावा मैरी का कहना है कि विदेशो में कमिटमेंट की कमी होती है। वही भारतीय लड़को में कमिटमेंट की भावना ज्यादा होती है। जी हां भारतीय पुरुष जीवन भर अपने पार्टनर का साथ निभाते है। यही वजह है कि ज्यादातर विदेशी लड़कियों को इंडियन लड़के ही पसंद आते है।