उत्तर कोरिया में केवल एक शख्स लड़ता है चुनाव…पहले से ही तय होता चुनाव का नतीजा

New Delhi : उत्तर कोरिया लोकतंत्र की एक नई परिभाषा गढ़ते हुए रविवार को अनोखा चुनाव करवाया जिसके नतीजे पहले से ही तय हैं। देश के नेता किम जोंग-उन की सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की ‘डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया’ पर मजबूत पकड़ से सभी वाकिफ हैं।

दिखावे के लिए यहां हर पांच वर्ष में ‘सुप्रीम पीपुल्स असेंबली’ के चुनाव कराए जाते हैं, जिसके नतीजे सब पहले से ही जानते हैं। इसे जारी रखते हुए रविवार को यहां मतदान कराया गया। आधिकारिक समाचार एजेंसी ‘केसीएनए’ के अनुसार पिछले साल 99.97 प्रतिशत मतदान हुआ था और केवल उन लोगों ने मतदान नहीं किया था जो देश से बाहर थे। शत-प्रतिशत मतदान नामित उम्मीदवारों के पक्ष में हुआ था। ऐसे नतीजे विश्व में और कहीं देखने को नहीं मिलते।

चुनाव अधिकारी को-कयोंग हक ने मुताबिक, ‘हमारा एक ऐसा समुदाय है, जहां लोग एकमत होकर शीर्ष नेता के सम्मान में एकत्रित होते हैं।’ इस दौरान 3.26 प्योंगयांग केबल फैक्टरी में मतदाताओं की कतार लगी दिखी। उन्होंने कहा कि चुनाव में हिस्सा लेना नागरिकों का कर्तव्य है और ‘ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जो उम्मीदवार को नकारे।’