खुल गया देश का सबसे बड़ा कैंसर अस्पताल, यहां केवल 10 रुपए में होगा कैंसर का इलाज

New Delhi : हरियाणा के झज्जर में देश के सबसे बड़े कैंसर अस्पताल की शुरुआत हो चुकी है। मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस अस्पताल का उद्घाटन किया था। फिलहाल इस राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में 50 बेड की सुविधा शुरू की जा चुकी है।

इस साल के अंत तक यहां 400 बेडों की सुविधा शुरू कर दी जाएगी। फिलहाल संस्थान की ओपीडी में 80 से 100 मरीजों को देखा जा रहा है। राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के निदेशक डॉक्टर जीके रथ ने बताया कि दिल्ली के एम्स से भी यहां मरीज लाए जा रहे हैं। साल 2020 तक 500 बेड की सुविधा शुरू करने का लक्ष्य है। यहां मार्च से ऑपरेशन थियेटर और रेडियोथेरेपी की सुविधा भी शुरू हो जाएगी।

झज्जर में तैयार हुए देश के सबसे बड़े कैंसर संस्थान में प्रोटोन थैरेपी की भी व्यवस्था की गई है। यह ऐसी थैरेपी है जिसमें प्रोटोन बीम से मरीजों के कैंसर के ट्यूमर को नष्ट कर दिया जाता है। इसके लिए एम्स ने अत्याधुनिक मशीन का ऑर्डर भी दे दिया है। निजी अस्पतालों में इस मशीन से इलाज का खर्च 20 से 25 लाख रुपये तक जाता है।

प्रोटोन थैरेपी केवल कैंसर कोशिकाओं को ही निशाना बनाती है। जबकि आसपास की स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान नहीं पहुंचता है। इससे शरीर के अन्य हिस्सों पर रेडिएशन का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।

फीस महज 10 रुपये : झज्जर के राष्ट्रीय कैंसर संस्थान की फीस महज 10 रुपये होगी। यह ओपीडी शुल्क होगा। पिछले माह ही इस संस्थान में ओपीडी सेवा शुरू की गई थी। फिलहाल एम्स से यहां मरीज रेफर किए जा रहे हैं।