सबसे बड़ी खबर- फाइजर की कोरोना वैक्सीन बीमारी के खिलाफ 90 फीसदी प्रभावी

New Delhi : कोरोनो वायरस बीमारी को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। कोरोना को हराने के लिये एक टीका अमेरिकी फार्मास्युटिकल दिग्गज फाइजर और जर्मन बायोटेक फर्म बायोएनटेक द्वारा विकसित किया जा रहा है। सोमवार को इस टीके को लेकर अच्छी खबर आई। सोमवार को जारी तीसरे चरण के परीक्षणों में इसे संक्रमण को रोकने के लिये 90 प्रतिशत प्रभावी पाया गया है। फाइजर के चेयरपर्सन और सीईओ अल्बर्ट बोर्ला ने कहा- हमारे तीसरे चरण के कोविड -19 वैक्सीन परीक्षण के पहले सेट से कोविड -19 को रोकने की हमारी वैक्सीन की क्षमता का प्रारंभिक प्रमाण मिलता है।

बोरला ने कहा- इस वैश्विक स्वास्थ्य संकट को समाप्त करने में मदद की दिशा में यह बेहद महत्वपूर्ण परिणाम हैं। दुनिया भर के लोगों के लिये यह एक बेहद महत्वपूर्ण परिणाम है।
प्रारंभिक निष्कर्षों के अनुसार दो खुराक के दूसरे से सात दिन के बाद और पहले 28 दिनों के बाद रोगियों में कोरोना को हराने व उससे सुरक्षित रहने की क्षमता विकसित हुई। निष्कर्ष 94 प्रतिभागियों द्वारा बीमारी के अनुबंध के बाद किये गये एक अंतरिम विश्लेषण पर आधारित हैं। ट्रायल तब तक जारी रहेगा जब तक 164 केस के निष्कर्ष सामने नहीं आ जाते हैं। प्रारंभिक परिणाम कंपनियों के लिये नियामकों से एक आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण प्राप्त करने का मार्ग प्रशस्त हो गया है। इस पूरी प्रक्रिया से यह तो साफ हो गया है कि टीके का खुराक लोगों की जान बचा लेगा।
आपूर्ति अनुमानों के आधार पर कंपनियों को इस साल के अंत तक वैश्विक स्तर पर 50 मिलियन वैक्सीन खुराक की आपूर्ति करने की उम्मीद है। 2021 में 1.3 बिलियन से अधिक खुराक की आपूर्ति की जायेगी। इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने घोषणा को बड़ी खबर बताया। ट्रंप ने ट्वीट किया- स्टॉक मार्केट उछल पड़ा है। टीका जल्द ही आ रहा है। 90% प्रभावी रिपोर्ट। यह है सबसे बड़ी खबर!

पिछले साल इसके प्रकोप के बाद से, कोरोनोवायरस रोग ने दुनिया में कहर बरपाया है। पूरी दुनिया में सोमवार को कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 50 मिलियन से अधिक हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *