बारिश में बह गया पुल, तार के सहारे नदी पार करके स्कूल जाता है टीचर ताकि बच्चों की पढ़ाई ना रुके

New Delhi :  उत्तराखंड में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हैं।

हाल ही में यहां पिथौरागढ़ जिले का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें एक शिक्षक को स्कूल जाने के लिए रोप-वे से उफनती नदी पार करते दिखाया गया। वे ऐसा कई दिनों से कर रहे हैं, ताकि मौसम की मार से बच्चों की पढ़ाई पर असर न पड़े। शिक्षक का नाम जोधसिंह कुंवर बताया गया।

करीब 30 मीटर का यह रोप-वे दानिबागर इलाके में जिम्बा नदी के ऊपर बना है। यहां कुछ दिन पहले बारिश और नदी के उफान से पुल ढह गया था। प्रशासन ने तत्काल कोई प्रबंध नहीं किया तो लोगों ने नदी पार जाने के लिए खुद ही रोप-वे (जिप लाइन) बना लिया।

उत्तराखंड में तेज बारिश ने लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है। इस बीच मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी के साथ अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग का मानना है कि प्रदेश में बादल फटने के भी आसार हैं, ऐसे में किसी भी प्रकार की तबाही से बचने के लिए लोगों से अलर्ट रहने की अपील की है।

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने  खतरे के रेड अलर्ट के माध्यम से चेतावनी जारी कर दी गई है। इसके बाद भी ऐसा नहीं कि राहत मिलने के कोई आसार हैं, भारी से बहुत भारी बारिश का ये क्रम लगातार 7 से 8 दिन तक चल सकता है।

उन्होंने कलर कोड के बारे में बताया कि हम छोटी घटनाओं के लिए येलो अलर्ट जारी करते हैं, वहीं बड़ी घटनाओं के मद्देनजर ऑरेंज अलर्ट जारी किया जाता है। लेकिन रेड अलर्ट का मतलब भारी से बहुत भारी बारिश और उसके परिणामस्वरूप बड़े खतरे और नुकसान होने के आसार होते हैं।

मौसम विभाग मुताबिक इस दौरान कई जगह भूस्खलन की घटनाएं होंगी, जिसकी वजह से रास्ते भी बंद होंगे। प्रदेश के शिक्षा विभाग ने स्कूलों में बच्चों के अनुपस्थित रहने पर भी बच्चों की अनुपस्थिति न लगाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही ये भी साफ कर दिया है कि अगर बहुत भारी बारिश हो रही हो तो अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल न भेजें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *