बाबा रामदेव की पतंजलि में 50,000 भर्तियां..10वीं पास हैं तो आज ही कर दीजिए आवेदन-सैलरी 25 हजार

New Delhi : अगर आप बेरोजगार हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। यदि आपका कोई मित्र या रिश्तेदार भी जॉब की तलाश में है तो आप उसतक इस जानकारी को पहुंचाकर उसकी मदद कर सकते हैं। 

बाबा रामदेव की पतंजलि में पूरे पचास हजार लोगों के लिए भर्तियां निकली हैं। पतंजलि ने सेल्स मैन पोस्ट के लिए ये भर्तियां निकाली हैं। उम्मीदवारों की कम से कम शैक्षिण योग्यता 10वीं पास मांगी गई है। इसके लिए आपको 25 हजार रुपए सैलरी हर महीने मिलेगी।  आप चाहें तो आज ही पतंजलि की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 9 सितंबर 2018 है

प्रत्येक जिले में 40 से 50 सेल्समैन की नियुक्ति होगी। होम डिलिवरी व रेडी स्टॉक सेल के लिए 50 से 100 लोगों की आवश्यकता है। कंपनी की ओर से जारी विज्ञापन, जिसे बाबा रामदेव के ट्विटर हैंडल पर भी शेयर किया गया है, कहा गया है कि शैक्षणिक योग्यता कम से कम 10वीं पास है। एफएमसीजी सेक्टर में 1-2 साल का अनुभव रखने वाले लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी।

विज्ञापन के मुताबिक, सैलरी 8000 से 15000 रुपये के बीच, शहर, कैटिगरी और योग्यता अनुसार होगी। पतंजलि ने इसके लिए हर शहर में ऑथराइज्ड कोऑर्डिनेटर नियुक्त किए हैं। कंपनी की ओर कहा गया है रजिस्ट्रेशन के लिए इनसे संपर्क करें। कंपनी ने नौकरी के नाम पर ठगी करने वालों से सावधान करते हुए कहा है कि इसके लिए किसी को पैसे ना दें।

वहीं, उत्तर प्रदेश में योग गुरु रामदेव की कंपनी पतंजलि के उत्पाद बेचने का जिम्मा सहकारिता विभाग उठाएगा। इसके तहत प्रदेश के गांव-गांव में पतंजलि के उत्पाद उपलब्ध कराए जाएंगे। सहकारिता विभाग की गांव-गांव में फैली प्राथमिक कृषि ऋण सहकारी समितियों (पैक्स) के जरिये यह काम करेगा।

प्रदेश के विभिन्न जिलों के गांवों में करीब 11,000 पैक्स हैं जो किसानों को कम ब्याज पर खाद, बीज के लिए कर्ज उपलब्ध कराती हैं। अब प्रदेश का सहकारिता विभाग ग्राम सभा स्तर पर पतंजलि के उत्पाद बेचने की तैयारी इन्हीं समितियों के जरिये कर रहा है।

सहकारिता विभाग इसका परीक्षण सहारनपुर, मेरठ और मुरादाबाद मंडलों के कुछ गांवों में कर चुका है। इसके सफल प्रयोग के बाद अब इस मॉडल को पूरे प्रदेश में लागू किए जाने की तैयारी है। सहकारिता विभाग पूरे प्रदेश में इसे लागू करने का प्रस्ताव शासन को भेजने की तैयारी कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *