मात्र 30 रुपए में बनवाएं आयुष्मान भारत कार्ड, अस्पतालों में फ्री होगा 5 लाख तक का इलाज

New Delhi : यह आम आदमी के काम की खबर है। अक्‍सर लोगों के पास बीमारियों के इलाज के लिए पर्याप्‍त बजट नहीं होता है। इसी समस्‍या को देखते हुए भारत सरकार ने आयुष्‍मान भारत योजना की शुरुआत की थी। यह ऐसी स्‍वास्‍थ्‍य योजना है जिसके दायरे में आने वाले हर परिवार को 5 लाख रुपए तक का कैशलेस स्‍वास्‍थ्‍य बीमा उपलब्‍ध कराया जाता है।

10 करोड़ बीपीएल धारक परिवार भी इस योजना का सीधा लाभ ले सकते हैं। इस योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अप्रैल 2018 को भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती पर छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से आरम्भ किया था। आइये इस योजना के बारे में खास बातें और रजिस्‍ट्रेशन की प्रक्रिया को समझते हैं।

आयुष्‍मान भारत योजना में आपका नाम है या नहीं इसे पता करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट https://www.pmjay.gov.in/ पर चेक किया जा सकता है। इसके लिए आप सबसे पहले वेबसाइट विजिट करें। यहां होम पेज पर एक बॉक्‍स दिखाई देगा। इसमें संबंधित व्‍यक्ति आपना मोबाइल नंबर दर्ज करेगा और उस पर जो ओटीपी आएगा उसे वेरीफाई करें। इसके बाद आपको पता लग जाएगा कि आपका नाम रजिस्‍टर्ड है या नहीं। इसके अलावा टोल-फ्री नंबर 14555 पर कॉल करके योजना में नाम की स्‍टेटस पता की जा सकती है। इसके अलावा अस्‍पतालों में जाकर स्‍वयं भी इसका पता लगाया जा सकता है। जब भी मरीज को अस्‍पताल में भर्ती किया जाता है तो उसे बीमा संबंधी कागजात देना होते हैं। इस आधार पर अस्‍पताल की ओर से संबंधित बीमा कंपनी को इलाज के खर्च के बारे में सूचित किया जाएगा।

आयुष्मान भारत योजना के संबंध में अच्‍छी बात यह है कि इसके लिए आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है। इसके बिना भी आप इस योजना के लिए प्रयास कर सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट का स्‍पष्‍ट आदेश है कि किसी भी सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता नहीं है।

आयुष्‍मान योजना के तहत नवजात बच्‍चों की सेहत, किशोर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा, संक्रामक और गैर-संक्रामक बीमारियों, आंख, नाक, गला, कान संबंधी रोग, डिलीवरी संबंधी केस आदि के इलाज की सुविधा है। इतना ही नहीं, इस योजना के तहत बुजुर्गों का भी इलाज करवाया जा सकता है।