2 साल तक सोशल मीडिया से रही दूर..मेहनत और लगन से IAS बन गई अकाउंटेंट की बेटी

New Delhi : UPSC परीक्षा में महम वार्ड एक में रहने वाली ढेर पाना की बेटी अंकिता चौधरी ने 14वां स्थान पाया है। अब वो IAS बनेंगी। अंकिता ने दसवीं व बारहवीं की परीक्षा इंडस स्कूल रोहतक से पास की थी। उसके बाद हिंदू कॉलेज दिल्ली से बीएससी पास की। फिर उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से ही कैमेस्ट्री आनर्स में डिग्री की।

अंकिता के पिता महम शुगर मिल में अकाउंटेंट हैं। उनकी माता अंजु जेबीटी अध्यापिका थी। जिनकी चार साल पहले सड़क हादसे में मौत हो गई थी। अंकिता के चाचा भोलू ढाका ने बताया कि बेटी की सफलता पर पूरे परिवार व शहरवासियों को नाज है। वह शुरू से ही मेहनती रही है।

अंकिता कहती हैं, मैं दो साल तक सोशल मीडिया से दूर रही क्योंकि मैं किसी तरह का भटकाव नहीं चाहती थी।’ अपनी बेटी की सफलता पर गर्व करते हुए सत्यवान कहते हैं, ‘अंकिता हमेशा से पढ़ने में तेज थी। वह खेल-कूद जैसी एक्टिविटी में भी आगे रहती थी। उसने मुझे और पूरे परिवार को गर्व से भर दिया है।’

IAS बनने का सपना जरूर देखा था, लेकिन सोचा नहीं था कि इतनी जल्दी ये सपना पूरा कर पाऊंगी। मेरा परिवार मेरे साथ रहा है। उन्होंने मुझे हमेशा बराबरी का दर्जा दिया। मैं मानती हूं कि किसी को भी लड़की और लड़के में भेद नहीं करना चाहिए।’ अंकिता शुरू से ही पढ़ाई में अव्वल रही हैं इसलिए उन्हें 12वीं के बाद इंस्पायर स्कॉलरशिप मिली थी जिसकी वजह से पढ़ाई में कभी किसी तरह की आर्थिक दिक्कतें नहीं हुईं

DC ने दी बधाई : डीसी डॉ यश गर्ग ने बधाई दी। डॉ. गर्ग ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अंकिता की सफलता प्रदेश की महिलाओं के लिए एक प्रेरणा का काम करेगी। इस अवसर पर शुगर मिल महम के एमडी दलबीर फौगाट ने भी उन्हें बधाई दी। अंकिता ने बताया कि विपरीत परिस्थितियों में संघर्ष करके और अपनी मेहनत व लगन से कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है। सफलता के लिए समर्पण जरूरी है।