अमित शाह बोले-कश्मीर मामले को UN में ले जाना नेहरू की सबसे बड़ी गलती थी

New Delhi :  बीजेपी अध्यक्ष एवं गृहमंत्री अमित शाह ने कश्मीर समस्या के लिए एक बार फिर पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर निशाना साधा है। अमित शाह ने कहा कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में लेकर जाना सबसे बड़ी गलती थी।

अमित शाह ने कहा कि जवाहर लाल नेहरू गलत चार्टर के साथ संयुक्त राष्ट्र में गए। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र में घुसपैठ चार्टर के साथ जाना चाहिए थी। उन्होंने सवाल किया कि जब भारतीय सेना जीत रही थी तो नेहरू ने युद्धविराम की घोषणा क्यों की।

अब PoK भारत का अभिन्न हिस्सा बनेगा। गृहमंत्री अमित शाह ने दो माह पहले साफ कहा था कि हम पीओके के लिए अपनी जान दे देंगे। वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह स्पष्ट कर चुके हैं कि अब पाकिस्तान से सिर्फ पीओके पर बात होगी।

PoK भारत का अभिन्न अंग है, भारतीय संसद प्रस्ताव पारित कर चुकी है। 22 फरवरी 1994 को संसद के दोनों सदनों ने PoK पर प्रस्ताव पास किया था। संसद ने PoK पर अपना हक जताते हुए कहा, ये भारत का अटूट अंग है। संसद ने कहा, पाकिस्तान को उस भाग को छोड़ना होगा जिस पर उसने कब्जा किया है। 14 मार्च 2013 को पाकिस्तान ने PoK पर अपने पक्ष में प्रस्ताव पारित किया था।

15 मार्च 2013 को संसद ने पाकिस्तान में पारित प्रस्ताव को सिरे से खारिज किया। 15 मार्च 2013 को संसद ने फिर कहा, PoK समेत पूरा कश्मीर भारत का हिस्सा है। संसद ने पाक को भारत के अंदरुनी मामलों में हस्तक्षेप करने से बाज आने की चेतावनी दी। 12 अगस्त 2016 को पीएम मोदी ने PoK को भारत का अभिन्न अंग बताया।