image source- Tweeted by pm narendra modi

8 साल की उम्र में ऋषि ने बनाया APP, आइंस्टाइन से भी तेज है दिमाग, मिला 2023 का PM बाल पुरुस्कार

New Delhi: जिस उम्र के बच्चों को ठीक से लिखना नहीं आता, उस 2 साल की उम्र में ऋषि ने पढ़ना सीख लिया था। उनके अंदर ज्ञान का भंडार है।  5 साल की उम्र में कोडिंग सीखी। इसके बाद कई ऐप बना दिए। उनकी दिलचस्पी विज्ञान, अंतरिक्ष और टेक्निकल में ज्यादा है। वे बड़े होकर वैज्ञानिक बनना चाहते हैं ताकि देश की रक्षा में मदद कर सकें। ऋषि 4 साल और 5 महीने की उम्र में ही दुनिया के सबसे पुरानी और सबसे प्रतिष्ठित हाई-आईक्यू सोसायटी मेन्सा इंटरनेशनल में शामिल हो गए थे और ऐसा करने वाले वो सबसे कम उम्र के सदस्यों में से एक हैं।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने 23 जनवरी को कुल 11 बच्चों को PM राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2023 से सम्मानित किया है। खेलने की उम्र में इन बच्चों ने किसी ना किसी क्षेत्र में अविश्वसनीय और सराहनीय काम किए हैं। इन्हीं में से एक बेंगलरु के 8 वर्षीय ऋषि शिव प्रसन्ना भी हैं। शिव ने एंड्राइड ऐप स्टोर के लिए तीन ऐप बनाए हैं, जिसके लिए इन्हें प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार मिला है।

ऋषि प्रसन्ना सबसे कम उम्र के गूगल सर्टिफाइड ऐंड्रॉयड डेवलपर्स में से एक हैं। उन्होंने बच्चों के लिए ‘दुनिया के देश’ ‘आईक्यू टेस्ट ऐप’ और ‘सीएचबी’ बनाए हैं। इन्हें पढ़ने और लिखने का काफी शौक है। उन्होंने बच्चों के लिए ‘लर्न विटामिन्स विद हैरी पॉटर’ नामक किताब भी लिखी है। इसके अलावा एक लाख से अधिक शब्दों के साथ सात भागों में लिखी जेके राउलिंग की पूरी हैरी पॉटर सीरिज को पढ़ लिया है।

ऋषि उन 11 विजेताओं में शामिल हैं जिन्हें प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 8 साल के शिव एक Android App डेवलपर हैं।  शिव ने एलिमेंट्स ऑफ अर्थ’ नामक किताब भी लिखी है। खबर के मुताबिक,  ऋषि का IQ लेवल 180 है, जो मशहूर वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन के आईक्यू लेवल से अधिक है। बता दें कि आइंस्टीन का IQ Level 160 था।