फाइल फोटो

संजय राउत बोले- राहुल गांधी तथ्यात्मक रूप से सही, उनकी हर बात को मानना ही पड़ता है केंद्र सरकार को

New Delhi : राहुल गांधी के शब्दों को “तथ्यात्मक रूप से सही” बताते हुये शिवसेना नेता संजय राउत ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा – कांग्रेस नेता की अधिकांश मांगों को अंततः केंद्र सरकार द्वारा लागू किया गया। राउत ने कहा- राहुल गांधी द्वारा अतीत में कही गई कई बातें तथ्यात्मक रूप से सही थीं। इतना ही नहीं, उनकी कई मांगों को बाद में केंद्र सरकार ने लागू भी किया। राउत ने यह भी कहा कि गांधी के शब्दों में “वजन” होता है, चाहे वह कुछ भी बात कर रहे हों। चाहे वह टीकाकरण या कोरोनावायरस के बारे में बात कर रहे थे। उनकी सारी बातें सच निकली हैं। उनके शब्दों में वजन होता है।

राहुल गांधी ने अपने सहयोगी कांग्रेस नेताओं के साथ सोशल मीडिया पर #SpeakUpForFreeUniversalVaccination अभियान शुरू किया था। नागरिकों के लिये मुफ्त टीके की मांग कर रहे थे। पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने हैशटैग के साथ एक वीडियो भी ट्वीट किया जिसमें लोगों से सभी के लिये मुफ्त टीकाकरण की मांग करते हुये वीडियो अपलोड करने को कहा गया। उन्होंने अप्रैल की शुरुआत में नई टीकाकरण नीति की मांग की थी। मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी जैसे दिग्गज नेताओं ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर भारत की वैक्सीन नीति में बदलाव की मांग की थी।
बहरहाल नई वैक्सीन नीति सुप्रीम कोर्ट द्वारा टीकाकरण नीति पर फटकार लगाये जाने के एक हफ्ते बाद केंद्र सरकार ने जारी की है। सोमवार को प्रधानमंत्री ने उदारीकृत वैक्सीन नीति में संशोधन किया। जहां केंद्र को सभी राज्यों को उनकी आबादी, कोविड -19 प्रसार की सीमा, टीकाकरण की प्रगति और वैक्सीन की बर्बादी के आधार पर मुफ्त टीके उपलब्ध कराने का काम सौंपा गया है। अब राज्यों को कोई टीका नहीं खरीदना होगा।
एक अधिसूचना में कहा गया है- भारत सरकार द्वारा मुफ्त प्रदान की जाने वाली वैक्सीन की खुराक राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों को जनसंख्या, बीमारी के बोझ और टीकाकरण की प्रगति जैसे मानदंडों के आधार पर आवंटित की जायेगी। वैक्सीन की बर्बादी आवंटन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *