Image Source : tweeted by @ShriVishwanath

25 जुलाई से आयुष्मान योग में शुरू हो रहा सावन, चार सोमवार पड़ेंगे, मधुश्रावणी पूजा 29 से

Patna : भगवान शिव का प्रिय मास सावन आयुष्मान योग में 25 जुलाई से आरंभ होकर 22 अगस्त को खत्म होगा। सनातन धर्म में सावन महीने का खास महत्व है। इस बार सावन में चार सोमवार का अनूठा संयोग बन रहा है। इसमें दो कृष्ण पक्ष और दो शुक्ल पक्ष में होंगे। सावन के दूसरे दिन ही पहली सोमवारी, इसके बाद दूसरी सोमवारी 2 अगस्त, तीसरी 9 व चौथी 16 अगस्त को है। जुलाई महीने में एक तो अगस्त महीने में तीन सोमवार होंगे। प्रथम सोमवार को सौभाग्य योग तो वहीं दूसरे एवं चौथे सोमवार को सर्वार्थ सिद्धि योग विद्यमान रहेगा। शुक्ल पक्ष में अष्टमी-नवमी एक दिन होने से इस बार सावन 29 दिनों का होगा। मिथिला परंपरा के नवविवाहित स्त्रियां इस मास में पंचमी तिथि से मधुश्रावणी की पूजा शुरू करती हैं।

अगर आप राशि के अनुसार शिव की आराधना करते हैं तो निश्चित रूप से धन-धान्य में वृद्धि होगी। मेष : इस राशि के जातकों को शिवजी को लाल चंदन व लाल रंग के फूल चढ़ाना चाहिये। ॐ नागेश्वराय नम: का जाप करना शुभ फलदायी होगा। वृष : इस राशि के जातकों को चमेली के फूल चढ़ाकर रुद्राष्टाकर का पाठ करने से आशातीत लाभ होगा। मिथुन : शिवजी को धतूरा, भांग चढ़ाकर साथ में पंचाक्षरी मंत्र का जाप करने से लाभ होगा। कर्क : शिवलिंग का भांग मिश्रित दूध से अभिषेक करें और रुद्राष्टाध्यायी का पाठ करें, अत्यंत लाभ होगा। सिंह : पूरे माह शिवजी को कनेर के लाल रंग फूल अर्पित करें तथा शिव मंदिर में शिव चालीसा का पाठ करें। कन्या : शिवलिंग पर बेलपत्र, धतूरा, भांग आदि का शृंगार चढ़ाएं और पंचाक्षरी मंत्र का जाप करें तो लाभ होगा।
तुला : मिश्री मिले दूध से शिवलिंग का अभिषेक करते हुए शिव के सहस्रनाम का जाप करें। वृश्चिक : भोलेनाथ को गुलाब का फूल व बिल्वपत्र की जड़ चढ़ाएं और नित्य रुद्राष्टक का पाठ करें। धनु : प्रात: शिवजी के चरणों में पीले फूल अर्पित करें, प्रसाद के रूप में खीर का भोग लगाएं और शिवाष्टक का पाठ करें। मकर : शांति और समृद्धि के लिए शिवजी को धतूरा, फूल, भांग एवं अष्टगंध चढ़ाकर पार्वतीनाथाय नम: का जाप करें। कुंभ : शिवलिंग का गन्ने के रस से अभिषेक करें एवं शिवाष्टक का पाठ करें, आर्थिक लाभ मिलेगा। मीन : शिवलिंग पर पंचामृत, दही, दूध व पीले फूल चढ़ाएं एवं चंदन की माला से 108 बार पंचाक्षरी मंत्र का जाप करें, धन-धान्य में वृद्धि होगी। (Input : Live Bihar)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *