इंजीनियरिंग के स्टूडेंट‍्स को ट‍्यूशन दे खरीदी थी स्पोर्ट‍्स बाइक, 100 बच्चों को भेजना चाहते थे नासा

New Delhi : बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की आज पहली बरसी है। उनके गये एक साल हो गया सहसा विश्वास ही नहीं होता। पूरी दुनिया में उनके फैन्स उनको याद कर रहे हैं। सबके चहेते सुशांत सिंह राजपूत को सिर्फ एक्टिंग का ही शौक नहीं था बल्कि वे स्पोर्ट‍्स बाइक चलाने का शौक भी रखते थे। उनकी एक फोटो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई, जिसमें वह एक फैन्सी बाइक के साथ नजर आ रहे हैं। इस फोटो को सुशांत ने 2016 में इंस्टाग्राम पर पोस्ट की थी, जो अब उनके जाने के बाद वायरल हो रही है। फोटो में सुशांत बाइक पर बैठे हुए दिख रहे हैं और काफी यंग भी नजर आ रहे हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Viral Bhayani (@viralbhayani)


फोटो को शेयर करते हुए सुशांत ने कैप्शन में लिखा था कि उन्होंने यह बाइक अपने पैसों से खरीदी थी। कॉलेज के फर्स्ट ईयर में वे इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहे 2 स्टूडेंट्स को ट्यूशन देते थे। इस तरह ट्यूशन से कमाये हुये पैसों से उन्होंने यह बाइक खरीदी थी। यही नहीं। सुशांत चाहते थे कि भारत के बच्चे खूब पढ़ें और खूब आगे बढ़ें। बाहर जाकर उच्च शिक्षा प्राप्त करें। मुंबई के एक स्टूडेंट भूषण सावंत ने बताया- सुशांत 100 स्टूडेंट्स को नासा भेजना चाहते थे। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने अपनी पहली मुलाकात को याद किया। 2017 में ही सुशांत ने इसकी पहल की थी। भूषण ने बताया- हम 9वीं कक्षा में थे जब 2017 में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त विनय हमारे स्कूल में आये थे। उन्होंने हमारा टेस्ट लिया। हमसे हमारे फेवरेट सब्जेक्ट्स को लेकर सवाल पूछे गये। हमें बताया गया था कि अगर हम सलेक्ट होते हैं तो हमें सुशांत सिंह राजपूत से मिलने का मौका मिलेगा और तब नासा की एक स्पॉन्सर्ड ट्रिप हमारे लिये एक सरप्राइज के रूप में आई थी। उनसे मिलने से पहले मैंने उनकी एक फिल्म ‘राब्ता’ देखी थी। हमारा बच्चों का एक ग्रुप था जो सुशांत सर से एक होटल में मिला था। वहां उन्होंने हमारा इंटरव्यू लिया। मुझे याद है कि जब मैंने गलत फॉर्मूला लिखा था तब सुशांत सर ने मुझे बैठाकर सही फॉर्मूला दिखाया और मुझे समझाया भी था।

भूषण ने कहा- हमें नासा की ट्रिप के सलेक्शन के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया था, यह हमारे लिये एक बड़े सरप्राइज की तरह था। सुशांत सिंह राजपूत द्वारा नासा भेजे जाने वाले पहले दो स्टूडेंट्स भूषण और सेल्विन मकवाना थे। भूषण भावुक हो कर कहते हैं- यह वास्तव में बहुत दुखद है कि उनका निधन हो गया है। आप जानते हैं कि वो स्टूडेंट्स को नासा भेजने के प्रोग्राम को जारी रखना चाहते थे। सेल्विन मकवाना और मैं पहले बैच से थे। उनका प्लान 100 स्टूडेंट्स को भेजने का था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *