image Source : Agencies

कोविड पर सरकार की सर्वदलीय बैठक का कांग्रेस, शिवसेना और अकाली दल का बहिष्कार

New Delhi : कांग्रेस, शिवसेना और शिरोमणि अकाली दल ने कोविड पर सर्वदलीय बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। इस बैठक सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों सदनों के सांसदों से विमर्श करनेवाले हैं। संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने शनिवार को घोषणा की थी कि पीएम मोदी संसद भवन एनेक्सी में महामारी पर ऐसा सत्र आयोजित करेंगे। कांग्रेस ने आज कहा कि इस मामले पर पहले सांसदों को संसद में चर्चा करनी चाहिये। कांग्रेस के राज्यसभा के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- अगर वह (पीएम मोदी) कोविड पर एक प्रस्तुति देना चाहते हैं, तो उन्हें सांसदों और राज्यसभा सदस्यों को अलग-अलग सेंट्रल हॉल में समय देना चाहिये। सांसदों को अपने निर्वाचन क्षेत्रों में कोविड से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करने की अनुमति दी जानी चाहिये। हालांकि, खड़गे ने जोर देकर कहा कि यह बहिष्कार नहीं था।

शिरोमणि अकाली दल ने केंद्रीय कानून के तीन हिस्सों को लेकर किसानों के लंबे समय से चल रहे विरोध का जिक्र करते हुये कहा कि वह बैठक में शामिल नहीं होंगे। पार्टी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा- आज शिरोमणि अकाली दल COVID-19 पर पीएम मोदी की ब्रीफिंग का बहिष्कार करेगा। कृषि मुद्दों पर चर्चा के लिये बैठक बुलाने के बाद ही इसमें भाग लिया जायेगा। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने इस कदम को ‘अत्यधिक अनियमित’ करार देते हुये कहा था कि सरकार जो भी भाषण या प्रस्तुति देना चाहती है वह संसद के अंदर होनी चाहिये।
तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ’ब्रायन ने ट्वीट किया – सांसद किसी सम्मेलन कक्ष में पीएम या इस सरकार से COVID-19 पर फैंसी पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन नहीं चाहते हैं। सदन के फ्लोर हाउस में आओ। राज्यसभा में शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, “हमारा सवाल केंद्र से है … आप डेटा क्यों छिपा रहे हैं? हमें बताएं, कितने लोगों ने अपनी जान गंवाई है। आधिकारिक आंकड़ों से वास्तविक स्थिति अलग है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *